Press "Enter" to skip to content

गौवंश पालना नहीं जमता तो हमारे फ़ार्म हाऊस में छोड़ दे…सविता बेदरकर, डॉ. बाजपेयी की गौपालकों को सलाह

Spread Post

गौवंश पालना नहीं जमता तो हमारे फ़ार्म हाऊस में छोड़ दे…सविता बेदरकर, डॉ. बाजपेयी की गौपालकों को सलाह

मवेशियों के बीच सड़क में चक्काजाम करने से सड़क दुर्घटनाओं की आशंका…

गोंदिया टुडे न्यूज़ नेटवर्क।
गोंदिया। गोंदिया शहर में इन दिनों, ट्राफिक पुलिस कम और मवेशिया ज्यादा दिखाई दे रही है। शहर के हर रोड-रास्तो पर ये गौवंश यातायात करने वालो के लिए बाधा निर्माण कर रही है। जनता का कहना है कि नगर पालिका, यातायात विभाग और जनप्रतिनिधि सब कुंभकर्णी नींद में सो रहे है। यातायात विभाग नियम बताकर सिर्फ चालान काटने में बिजी है जबकी उसे सड़क पर यातायात बाधित करती मवेशिया दिखाई नही दे रही। नगर परिषद को बार-बार जानकारी दी गईं पर विभाग भी सुस्त है। ऐसे में गौपालक बेख़ौफ़ होकर अपने घर की गौवंश को घर के बाहर कर छोड़ रहे है।

सामाजिक सेविका सविता बेदरकर का कहना है कि गौपालक सिर्फ गौवंश को दूध पूर्ति के साधन बनाये रखे हुए है। पालना तो दूर, वे खाना भी उन्हें नही खिला रहे है, जिससे गौवंश बाहरी खाना, पॉलीथिन भी खा रही है। गौवंश बेजुबान जानवर है वो बोल नही सकती और वो अपने जीवन को खतरे में डाल रही है।
गौवंश का फार्महाउस चलाने वाले पेशे से डॉक्टर और जेसीआई के अध्यक्ष डॉ. बाजपेई का कहना है कि, मवेशिया लावारिश अवस्था मे छोड़ना उनका अपमान करना है। हम उन्हें पुजते है। हमें उनका ख्याल रखना चाहिए। वे सड़क में बैठकर यातायात को बाधित कर रही है जिससे कही भी जानलेवा दुर्घटना घट सकती है।

सविता बेदरकर एवं नितेश वाजपेयी की सलाह है, की जिन लोगों को गौवंश पालना नही जमता, लालन पालन नही जमता वे अपने गौवंश को उनके फार्महाउस में दे सकते है। उन्होंने ऐसे लोगो पर कार्रवाई की मांग भी की है।

Be First to Comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

1 × five =