fbpx Press "Enter" to skip to content

नौकरी करने वालों के लिए बड़ी खबर! लेबर कानूनों में बदलाव से चेंज होंगे पीएफ-बोनस समेत कई नियम

Spread Post

बुधवार को हुई कैबिनेट बैठक में लेबर कोड ऑन इंडस्ट्रियल रिलेशन 2019 (Labour Code on Industrial Relations 2019) को मंजूरी मिल गई है. इसके जरिए सरकार फिक्स्ड टर्म यानी तय समय के लिए रोजगार से जुड़े प्रावधानों को अब कानून का रूप देने जा रही है.

Gondia Today News Network

नई दिल्ली. कोई कंपनी भले तीन महीने के लिए ही काम पर रखे तब भी अब पीएफ (Provident Fund), बोनस (Bonus), ग्रेच्यूटी (Gratuity) लेने का अधिकार कर्मचारी (Employee Rights) के पास होगा. कंपनी को भी इस बात का अधिकार मिलेगा की काम होने पर वो कर्मचारी को रखे और काम पूरा होने पर निकाल दे. सरकार, लेबर कोड ऑन इंडस्ट्रियल रिलेशन (Labour Code on Industrial Relations 2019) के जरिए फिक्स्ड टर्म यानी तय समय के लिए रोजगार से जुड़े प्रावधानों को अब कानून का रूप देने जा रही है.
(1) लेबर कानूनों में बड़े बदलावों को कैबिनेट ने दी मंजूरी- बुधवार को हुई कैबिनेट बैठक में लेबर कोड ऑन इंडस्ट्रियल रिलेशन 2019 को मंजूरी मिल गई है. अब सरकार संसद के शीतकालीन सत्र में इसे पेश करेगी.
(2) नए बदलावों से क्या होगा- फिक्स्ड टर्म यानी तय समय के लिए रोजगार पर नया कानून बनेगा. कंपनी तीन महीने या पांच महीने के लिए भी रख सकती है. काम खत्म होने पर कर्मचारी को निकालने का अधिकार कंपनी को मिलेगा.
(3) नियमों के खिलाफ यूनियन ने किया हड़ताल का फैसला-यूनियन ने प्रस्तावित कानूनों के विरोध में 8 जनवरी को हड़ताल का फैसला किया है.लेबर यूनियन को स्थायी कर्मचारियों को फिक्स्ड टर्म में बदलने का डर है.
(4) कंपनियों ने किया नए नियमों का स्वागत- इंडस्ट्री के मुताबिक नए प्रावधानों से रोजगार के बड़े अवसर पैदा होंगे. कंपनी को ये अधिकार होगा कि वो कांट्रैक्टर के बजाए खुद ही ऐसे कर्मचारी को हायर कर लें.

Connect us on Social Media

Be First to Comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

three × 1 =